April 14, 2024

सोनभद्र। विगत वर्षो के भांति इस वर्ष भी रंगीला कावर संघ के द्वारा शिवबारात यात्रा निकाली गयी जो राबर्ट्सगंज नगर में भ्रमण करते हुए बरैला मंदिर तक गयी। संरक्षक भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष धर्मवीर तिवारी, मिठाइलाल सोनी ने बताया कि, शिव बारात क्या है? कहा कि, यह परंपरा सदियों से चली आ रही है। इस बारात में ब्रह्मा और विष्णु अगुवाई कर रहे थे। कहते हैं कि, महाशिवरात्रि पर भगवान शंकर का माता पार्वती के साथ विवाह हुआ था, इसलिए शंकर जी की बारात निकाली जाती हैं। विष्णु और ब्रह्मा आदि देवताओं के समूह अपने-अपने वाहनों पर चढ़कर बारात में चले। शिवजी के सुंदर मस्तक पर चन्द्रमा, सिर पर गंगाजी, तीन नेत्र, साँपों का जनेऊ, गले में विष और छाती पर नरमुण्डों की माला थी। एक हाथ में त्रिशूल और दूसरे में डमरू सुशोभित है।
रंगीला कावर संघ के अध्यक्ष महेश कुमार सोनी मल्लू ने बताया कि, प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी रंगीला कावर के द्वारा शिवबारात बहुत भब्य रूप मे निकाला गया हैं। बारात में नगर से काफी संख्या में लोग रहे हैं जिसमें हरी आनन्द, प्रमोद गुप्ता, मिठाई लाल सोनी, अजय, विनोद सोनी , दिनेश सोनी, योगेश सिंह, छोटक सोनी, अखिलेश कश्यप, राहुल, सत्यम, दीपू सोनी, दीपक, राम , विवेक, विशाल, चंदन सोनी, रवि, संतोष, गोलु, चंदन एवं बहुत से लोगों ने बढ़ चढ़कर शिव बारात में काफी हर्षोल्लास के साथ प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *