February 25, 2024

सोनभद्र। रावर्टसगंज नगर स्थित जल निगम कुसाहि परियोजना परिषद में बुधवार को अपनी पांच सूत्रीय मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश जल निगम संघर्ष समिति के बैनर तले कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन कर बुलंद की आवाज तथा मुख्यमंत्री नामित ज्ञापन संबंधित जिलाधिकारी कार्यालय में सौपा। प्रांतीय अध्यक्ष अनिल कुमार ने बताया कि, प्रान्तीय संयोजक, उ०प्र० जल निगम संघर्ष समिति, लखनऊ के आवाहन पर बुधवार को जल निगम कर्मियों की 5 सूत्रीय मांगों के निदान हेतु प्रान्तीय नेतृत्व के निर्देशानुसार इकदिवासी धरना प्रदर्शन करते हुए अपरान्ह 2.30 बजे जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री, उ०प्र० शासन, लखनऊ को सम्बोधित धरना / प्रर्दशन के पश्चात ज्ञापन प्रेषित करने का निर्णय लिया गया है, वहीं जिला मीडिया प्रभारी कमल सिंह ने बताया कि, शासन द्वारा जहाँ पर अभी तक सातवां वेतनमान लागू नही किया गया है, वहाँ पर छठवें वेतनमान के अन्तर्गत 230 प्रतिशत मंहगाई भत्ता शनैः शनैः स्वीकृत किया गया है किन्तु जल निगम नगरीय में अभी तक 189 प्रतिशत तथा ग्रामीण में 196 प्रतिशत अर्थात क्रमशः 41 एवं 34 प्रतिशत कम दिया जा रहा है। मंहगाई की मार सभी के लिये समान है। अतः दोनों निगमों में महंगाई भत्ता / राहत 230 प्रतिशत किया जाये। मा० उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद भी अभी तक षष्ठम वेतन के अवशेष का भुगतान जिसके लिये शासन द्वारा भी जल निगम को एक वर्ष पूर्व ही धन उपलब्ध करा दिया गया था, के बावजूद अभी तक भुगतान नही किया जा रहा है जो मा० उच्चतम न्यायालय एवं शासन दोनों के निर्णयों के विपरीत है। अतः अवशेष का भुगतान अविलम्ब किया जाये। जल निगम नगरीय में अभी भी वेतन/पेंशन का भुगतान सितम्बर तक किया गया है, अतः वेतन/पेंशन के माह वैकलाग को समाप्त करते हुये दोनों नियमों में वेतन/पेंशन का नियमित भुगतान प्रतिमाह समय पर सुनिश्चित करते हुये पावर कारपोरेशन की भांति पेंशन कोषागार (ट्रेजरी) से सम्बद्ध किया जाये। जल निगम नगरीय एवं ग्रामीण में सातवाँ वेतनमान सम्बन्धी शासनादेशों को जल निगम पर लागू किया जाय। मा० मुख्यमंत्री जी द्वारा विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक दिनांक 29 जुलाई 23 को एक प्रकृति के कार्य करने वाले विभिन्न विभागों/निगमों के एकीकरण के लिये निर्णय के सम्मान में उ०प्र० जल निगम (नगरीय एवं ग्रामीण) को एकीकृत करते हुये अपने मूल स्वरूप में स्थापित करने तथा शासन स्तर पर नियन्त्रण हेतु एक अलग प्रशासनिक विभाग गठित करने की कृपा की जाये। उक्तानुसार कार्यवाही से प्रशासनिक सुगमता होगी तथा वित्तीय स्थिति में सुधार होगा। इस मौके पर कमल सिंह, सुजीत कुमार गोड़, शशीकांत मौर्य, जनार्दन सिंह यादव, अरुण सिंह, धर्मराज, विवेक कुमार , मनीराम पटेल , सत्य प्रकाश , राकेश कुमार मिश्रा सहित आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *