March 3, 2024

वाराणसी। आस्था का महापर्व मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान के लिए घाटों पर उमड़ा आस्था का जनसैलाब। लाखों लोगों ने गंगा घाट पर आस्था की डुबकी लगाई। इस दौरान मौन रहकर लोगों ने गंगा स्नान किया। वहीं घाट पर पुरोहित व पंडों को दान देकर पुण्य के भागी बने। मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान का विशेष लाभ मिलता है। इस दौरान सुरक्षा के दृष्टि से प्रशासन अलर्ट रहा।
गंगा स्नान के लिए श्रद्धालु भोर से ही घाटों पर पहुंचने लगे थे। राजघाट से लेकर सामने घाट तक श्रद्धालुओं की भीड़ रही। लोगों ने मौन धारण कर गंगा स्नान किया। वहीं पंडों व पुरोहितों को दान देकर सुख-समृद्धि की कामना की। इस दौरान घाटों पर मेला जैसी स्थिति रही। श्रद्धालु बबिता गुप्ता ने कहा कि मौनी अमावस्या के दिन मौन रहकर गंगा स्नान का विशेष पुण्य मिलता है। इस दौरान अपनी क्षमता के अनुसार दान का भी लाभ मिलता है। पुष्पा सिंह ने कहा कि घर-परिवार की सुख-समृद्धि की कामना से मां गंगा में आस्था की डुबकी लगाई। मौन रहकर गंगा स्नान किया और मां से सुख-शांति और समृद्धि का आशीर्वाद मांगा। रीना सिंह ने कहा कि घऱ-परिवार की सुख-समृद्धि के लिए गंगा स्नान किया।
पंडित किशोरी रमण दुबे ने कहा कि मौनी अमावस्या के दिन आज जो योग मिला है, वैसा योग 65 साल पहले मिला था। महिलाएं, पुरुष मौन व्रत धारण कर गंगा स्नान करते हैं। इसका विशेष लाभ मिलता है। गंगा स्नान व प्रभु के दर्शन से कोटि-कोटि पापों का नष्ट होता है। एसपीपी दशाश्वमेध प्रज्ञा पाठक ने बताया कि मौनी अमावस्या को लेकर प्रशासन अलर्ट है। सभी घाटों व चौराहों पर जवानों की ड्यूटी लगी है। रात 3 बजे से ही ड्यूटी लगाई गई है। बताया कि गोदौलिया चौराहे पर वाहनों की पार्किंग प्रतिबंधित है। बताया कि महिला पुलिस, एनडीआरएफ व जल पुलिस की टीम भी निगरानी में लगी हैं।
संदिग्धो पर विशेष नजर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *