Wed. Jul 17th, 2019
साक्षरता शिविर का हुआ आयोजन

साक्षरता शिविर का हुआ आयोजन

सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र बड़राव अपनी बदहाली पर आसूँ बहा रहा
पहल टुडे
एस रहमान
अमिल। मऊ
मऊ। सरकार बेहतर स्वास्थ सेवाओं के लिए करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद भी 30 बेड वाला सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र बड़राव अपनी बदहाली पर आसूँ बहा रहा है। मरीजों के पीने के पानी के लाले दर बदर भटकते मरीज। घोसी तहसील के बड़रांव ब्लाक स्थित सामुदायिक स्वास्थ केंद्र पर सरकार द्वारा दी हुई सुबिधाएं पर स्वास्थ केन्द्र में तैनात चिकित्सक सरकार की सुबिधाओं का पलीता जला रहे हैं। जी हाँ स्वास्थ केन्द्र पर इस भीषण गर्मी और आग उगलते धूप में दूर दूर से आनेवाले मरीज पीने के एक बूंद पानी को तरस रहे हैं। क्योंकि कि इस हास्पिटल में एक प्यूरीफाई वाटर कूलर तो है लेकिन उसकी हालत कबाड़ से बत्रर है तथा दो सरकारी इण्डिया मार्का हेण्डपम्प लेकिन एक खराब है और दूसरा बालू दे रहा है। ऐसी स्थिति में मरीजों को पानी पिने के लिए काफी मुशक्कत उठानी पड़ रही हैं। जहाँ पर चिकित्सक प्रभारी के कमरे में ताला बंद रहता हो वहाँ सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र राम भरोसे ही चलता है। हद तो जब हो गयी जब नर्स ड्यूटी रूम व O. T. में ऐसी गन्दगी मानो कई महीनो से झाड़ू ही नही लगा हो और जैसे वह कूड़ा कचड़ा फेकने का स्थान हो। आगे दिलचस्प बात तो यह है कि वर्न वार्ड में जहाँ महिलाओं के प्रसव वार्ड तथा प्रभारी चिकित्सक केबिन के सामने पीकदान बना हुआ है और सफाई छू कर भी नही है। साथ ही लू और डायरिया जैसे खतरनाक बीमारी में प्रयोग होने वाला महत्वपूर्ण ओआरएस पैकेट बीमार मरीजों को देने के बजा वह बाहर बरामदे लावारिस फेका हुआ है। इस संबंध में सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र प्रभारी चिकित्सक डॉक्टर अशोक कुमार सवालों के जबाब से कतराते हुए सारी व्यवस्था ठीक बताया और जो खराब है उसे फौरन दुरूस्त करने की बात कही।
मिडिया में वाहवाही के लिये आलाधिकारी अपनी जाँच का स्टंट करते हैं लेकिन इन पर कार्यवाही कोई नही करता इसी कारण लाखों की लागत से बना ये सामुदायिक स्वास्थ् केंद्र उपेक्षित पड़े है और इनमे मरीज अपना इलाज करवाने से कतराते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: