सात और राज्यों तथा दो केंद्र शासित प्रदेशों का खेल सुविधाओं के उन्नयन के लिए चयन

सात और राज्यों तथा दो केंद्र शासित प्रदेशों का खेल सुविधाओं के उन्नयन के लिए चयन

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (वार्ता) केंद्रीय खेल मंत्रालय ने खेलो इंडिया योजना के तहत कुल नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में खेल केंद्रों को खेलो इंडिया राज्य उत्कृष्टता केंद्र (केआईएससीई) के रूप में उन्नत किया है। इन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, चंडीगढ़, गोवा, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पुड्डुचेरी, त्रिपुरा, और जम्मू-कश्मीर शामिल हैं।


केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने इस फैसले के बारे में कहा, “सरकार दो तरफा दृष्टिकोण को लेकर आगे बढ़ रही है, जिसमें एक तरफ ज़मीनी स्तर के बुनियादी ढांचे को विकसित करना और दूसरी तरफ खेल उत्कृष्टता के लिए सुविधाएं बनाने का कार्य किया जा रहा है। केआईएससीई में विश्व स्तर की सुविधाएं होंगी, जहां पूरे देश की सर्वश्रेष्ठ खेल प्रतिभाओं को भारत के ओलंपिक सपनों को आगे बढ़ाने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।”

 


इन केंद्रों ने अपने पिछले प्रदर्शनों, राज्य में बुनियादी ढांचे की गुणवत्ता, प्रबंधन और खेल संस्कृति आदि के आधार पर कटौती की है। इस वर्ष के प्रारंभ में मंत्रालय ने कुल 14 केंद्रों को केआईएससीई के रूप में उन्नत करने के लिये पहचान की थी। कुल मिलाकर अब 23 राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों में 24 केआईएससीई हैं। इन केंद्रों को खेल उपकरण, उच्च प्रदर्शन प्रबंधक, कोच, खेल वैज्ञानिक, तकनीकी सहायता आदि में अंतराल को कम करने के रूप में सहायता प्रदान की जाएगी।

 


प्रत्येक राज्य और केंद्र शासित प्रदेश द्वारा खेल सुविधाओं का चयन किया गया था, जिन्हें उनके या उनकी एजेंसियों या किसी भी योग्य एजेंसियों के साथ उपलब्ध सर्वोत्तम खेल केंद्र की पहचान करने के लिए कहा गया था जिन्हें विश्व स्तरीय खेल सुविधाओं में विकसित किया जा सके।
राज
जारी वार्ता

Loading...