प्रदूषण : एनसीआर में कल से सक्रिय होंगे सीपीसीबी के 50 दस्ते

प्रदूषण : एनसीआर में कल से सक्रिय होंगे सीपीसीबी के 50 दस्ते

नयी दिल्ली, 14 अक्टूबर (वार्ता) दिल्ली समेत पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए गुरुवार से केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के 50 दस्ते सक्रिय हो जायेंगे।

हर साल ठंड के मौसम में एनसीआर में वायु प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ जाता है। प्रदूषण के ऊँचे स्तर के साथ स्मॉग (धूल और धुएँ के मिश्रण) के कारण आम लोगों को काफी परेशानी होती है। मौसमी कारकों के साथ आसपास के राज्यों में किसानों द्वारा पराली जलाने से यह स्थिति उत्पन्न होती है। सीपीसीबी ने प्रदूषण फैलाने वाले कारकों के नियंत्रण के लिए 50 दस्तों का गठन किया है जो मौके पर जाकर प्रदूषण के लिए जिम्मेदार लोगों और संस्थाओं पर जुर्माना लगायेगी। साथ ही राज्य सरकारों को भी प्रदूषण कम करने की सलाह देगी।



पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने आज बताया कि सीपीसीबी के दस्ते प्रदूषण की दृष्टि से एनसीआर के ‘हॉटस्पॉट’ शहरों में जायेंगी। इनमें उत्तर प्रदेश के नोएडा, गाजियाबाद और मेरठ, हरियाणा के गुरुग्राम, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, झज्जर, पानीपत और सोनीपत तथा राजस्थान के भिवाड़ी, अल्वर और भरतपुर शामिल हैं। इन शहरों में जिन स्थानों पर प्रदूषण अधिक होगा टीमें वहाँ औचक निरीक्षण करेंगी।

प्रदूषण नियंत्रण के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन कर चल रहे बड़े निर्माण कार्यों, खुले में कूड़ा फैलाने, सड़क किनारे की धूल और कूड़े को खुले में जलाने की घटनाओं पर इन दस्तों की नजर रहेगी। पिछले कुछ वर्षों की तरह इस साल भी ये दस्ते 15 अक्टूबर से अगले साल 28 फरवरी तक सक्रिय रहेंगे।



इस काम के लिए सीपीसीबी के दिल्ली स्थित मुख्यालय में एक नियंत्रण कक्ष भी बनाया गया है जहाँ हर घंटे प्रदूषण के स्तर के आँकड़े मिलते रहेंगे। यहीं से राज्य सरकारों और स्थानीय निकायों के साथ संयोजन का काम किया जायेगा। हर जिले के लिए एक नोडल अधिकारी की भी नियुक्ति की गई है।

अजीत जितेन्द्र वार्ता

Loading...