आर्थिक मंदी की मार झेल रहे व्यापारियों ने विरोध में लगाएं पोस्टर

आर्थिक मंदी की मार झेल रहे व्यापारियों ने  विरोध में लगाएं पोस्टर

गंजबासौदा :- एक ऐसा व्यापारी वर्ग जो आम आदमी के शुभ कार्यों या वैवाहिक आयोजनों में चार चांद लगा देता है आज खुद सरकारी प्रतिबंधों के चलते दो जून की रोटी के लिए परेशान है। जी हां यहां बात कर रहे हैं शादी विवाह से जुड़े व्यवसायियों की जो वैश्विक महामारी के चलते  आर्थिक रूप से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। और अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए सरकार से मदद की अपील कर रहे हैं।
 कोरोना महामारी के चलते सरकार ने फरवरी माह में लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी तब से लेकर आज तक  लगभग  8 महीने बीत चुके हैं लेकिन सरकार द्वारा  शादी समारोह  या अन्य आयोजनों में  सिर्फ  100 लोगों की अनुमति प्रदान करी है।  जिसके चलते  बड़े आयोजन नहीं हो पा रहे हैं , सीमित आयोजन के कारण शादी समारोह के व्यापार से  जुड़े लगभग 1200 परिवार प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित हुए हैं। धार्मिक एवं सामाजिक आयोजनों में 100 व्यक्तियों की संख्या को बढ़ाकर 500 तक की जाए इसी मांग को लेकर टेंट फेडरेशन ऑफ मध्य प्रदेश के तत्वधान में टेंट ध्वनि एवं प्रकाश संघ गंज बासौदा के बैनर तले सभी टेंट साउंड और लाइट का व्यवसाय करने वाले व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान के बाहर आर्थिक तंगी से परेशान होकर पोस्टर लगा दिए है, ताकि सोई हुई सरकार को नींद से जगा सके और वह अपनी परेशानियों को सरकार के  कानों तक  पहुंचा सके।


भाई व्यापारियों का तर्क है कि जब राजनीतिक संगठन अपने आयोजनों में 5 -5 हजार लोग एकत्रित कर सकते हैं तो हम सभी व्यापारियों को आयोजन में 500 व्यक्ति की छूट क्यों नहीं मिल सकती। हम लोगों पर कोरोना से ज्यादा मार आर्थिक तंगी की पड़ रही है और हमारा परिवार आर्थिक तंगी के बुरे दौर से गुजर रहा है।

रिपोर्ट :- सौरभ सक्सेना मध्यप्रदेश ब्यूरो

Loading...
loading...