साकिब हत्याकाण्ड का हुआ खुलासा

पुलिस ने इस मामले में तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है।

मेरठ थाना सरधना पुलिस द्वारा क्षेत्र में हुए साकिब हत्याकाण्ड का खुलासा कर दिया गया। साकिब की हत्या अवैध संबंधों के चलते की गई। पुलिस ने इस मामले में तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। जबकि हत्याकांड में शामिल दो महिलाएं फरार हैं। उनकी पुलिस तलाश कर रही है। घटना का खुलासा एसओजी और सरधना पुलिस ने मिलकर किया। पुलिस ने अभियुक्त बिलाल निवासी मौ0 घोसियान कस्बा व थाना सरधना मेरठ को मुखबिर की सूचना पर रजवाहा पुलिया से गिरफ्तार किया। जिसकी निशानदेही पर उसी की भैसों की डेरी में बनी खोर से भूसे में दबा घटना के समय पहना एक लोअर व लोअर के अन्दर से घटना मे प्रयुक्त एक छुरी बरामद करायी व अपनी निशानदेही पर अपने दो साथी तालिब और अजीम मौ0 घोसियान कस्बा व थाना सरधना गिरफ्तार करवाया।

 

इस मामले में दो अभियुक्त महिलाएं तबस्सुम पत्नी बिलाल और नफीसा पत्नी आजम फरार हैं। मृतक साकिब पुत्र शाहिद अली निवासी नंगला आर्डर रोड नई बस्ती कस्वा व थाना सरधना मेरठ की दोस्ती हत्यारोपी तालिब पुत्र आजम निवासी मौ0 घोसियान के साथ थी मृतक साकिब उपरोक्त का तालिब के घर आना जाना था। जिस बीच मृतक साकिब के सम्बन्ध बिलाल उर्फ भोला की पत्नी तबस्सुम के साथ हो गये। बिलाल ने एक दिन तालिब ने शाकिब को अपनी पत्नी तबस्सुम के साथ आपत्तिजनक स्थिति मे देख लिया था। इस बात को अभियुक्त तालिब ने अगले दिन अपने भाई बिलाल को बताया था।

जिस पर बिलाल,अजीम नफीसा इत्यादी तालिब ने आपस में बात चीत करके शाकिब की हत्या की योजना बनायी। इसके बाद अभियुक्त अजीम के पास पहले से डेरी मे तीन छुरी रखी थी। जिन्हें अभियुक्त अजीम द्वारा अभि0 बिलाल उर्फ भोला को शाकिब की हत्या करने के लिए दिया गया था। योजना के मुताबिक आरोपी अजीम तथा बिलाल उर्फ भोला को पहले से निश्चित जगह रजवाहा नवाबगढी पर जाना था। चूंकि मृतक शाकिब व आरोपी तालिब में घनिष्ठ दोस्ती थी। जिस पर आरोपी तालिब द्वारा मृतक शाकिब को धोखे से फोन करके उसी की बाइक से रजवाहा नवाबगढी पहुँचा। योजना के अनुसार आरोपी अजीम व बिलाल उर्फ भोला को रजवाहा नवाबगढी पर शाकिब की हत्या की घटना को अन्जाम देने जाना था। किन्तु किसी कारण आजम घटना वाले दिन नहीं गया। तालिब मृतक शाकिब को रजवाहा नहर पटरी पर लेकर पहुँचा तो बिलाल उर्फ भोला पहले से तय स्थान नबाबगढी रजवाहा पर मय छुरियों के मौजूद था। जिसके बाद तालिब व बिलाल उर्फ भोला ने मृतक शाकिब को नीचे गिराकर व मृतक के दोनों हाथ पीछे बांधकर गला रेतकर शरीर पर कई जगह छुरे से वार किए। जिससे उसकी मौत हो गई।

 

Loading...