health news aaj tak: आरोग्यधाम में समग्र निदान चिकित्सा शिविर आयोजित

health news aaj tak: आरोग्यधाम में समग्र निदान चिकित्सा शिविर आयोजित

आरोग्यधाम में समग्र निदान चिकित्सा शिविर आयोजित

-नामचीन न्यूरो सर्जन डॉ मिलिंद देवगांवकर एवं विभिन्न चिकित्सकों के सहयोग से हर शनिवार को लगेगा शिविर

-शिविर में हर मर्ज के मरीज को एक ही छत के नीचे परामर्श एवं उपचार

चित्रकूट। दीनदयाल शोध संस्थान का आरोग्यधाम, जैसा नाम वैसा काम। क्या आपको लगता है इस औषधालय में ऐसी सुविधा व चिकित्सक होंगे जो महानगरों की खर्चीले उपचार को बहुत सस्ते में उपलब्ध करा रहे हैं। एकाएक भरोसा नहीं होता, लेकिन ऐसा हो रहा है। आजीवन स्वस्थ रहने की परिकल्पना को साकार करने में जुटे यहां के चिकित्सक असंभव को संभव कर रहे हैं।

    धर्मनगरी स्थित आरोग्यधाम का आयुर्वेद अस्पताल एक ऐसा चिकित्सालय है, जहां सिर्फ उपचार नहीं होता बल्कि रोग को जड़ मूल से नष्ट करने के लिए सतत खोजपूर्ण अनुसंधान भी किया जाता है।

स्वास्थ्य सेवाओं के दृष्टिगत सबसे पिछड़े जनपद चित्रकूट में भारत रत्न नानाजी देशमुख के विचारों से पल्लवित दीनदयाल शोध संस्थान के द्वारा लगातार बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाने का काम तेजी पकड़े हुए है। आयुर्वेद के साथ-साथ समय समय पर विभिन्न मर्जों के चिकित्सा शिविरों का लाभ जाने माने चिकित्सकों द्वारा मिलता रहा है। अमेरिका से चित्रकूट आये भारतीय मूल के न्यूरो सर्जन डॉ मिलिंद देवगांवकर गत वर्ष से आरोग्यधाम चिकित्सालय में मरीज़ों को स्वास्थ्य सेवा दे रहे है।

दीनदयाल शोध संस्थान के उप महाप्रबंधक डॉ अनिल जायसवाल ने बताया कि न्यूरो सर्जन डॉ मिलिंद देवगांवकर एवं आरोग्यधाम के सभी चिकित्सकों के सहयोग एवं चित्रकूट क्षेत्र के विभिन्न एलोपैथ, आयुर्वेद, होम्योपैथ, प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग चिकित्सा के एक्सपर्ट प्रत्येक शनिवार को आरोग्यधाम में लगने वाले समग्र निदान चिकित्सा शिविर में अपना सहयोग देंगे। यह शिविर आज से शुरू किया जा रहा है जो कि प्रत्येक शनिवार आरोग्यधाम में संचालित रहेगा। यह शिविर का पहला चरण है जिसमें सभी सहयोगी चिकित्सकों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। इस शिविर में हर मर्ज के मरीज को एक ही छत के नीचे परामर्श एवं उपचार किया जाएगा।

  आरोग्यधाम के न्यूरो सर्जन डॉ मिलिन्द देवगावँकर के नेतृत्व में होम्योपैथी के डाॅ जे पी शुक्ला, योगा के जितेन्द्र सिंह, फिजियोथेरेपिस्ट डॉ अनुराग त्रिपाठी, आरोग्यधाम की वरिष्ठ चिकित्सक डॉ भारती श्रीवास्तव ने समग्र निदान शिविर को सफल बनाने में अपना अमूल्य योगदान दिया।

डॉ देवगावँकर ने शिविर के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए बताया कि राष्ट्रऋषि नानाजी की सोच थी कि चिकित्सा की सभी पद्धतियों से परामर्श करके ही रोगी का उपचार किया जाना चाहिए। जिससे उसे कम समय एवं कम मूल्य पर सस्ता इलाज मिल सके। इसी को दृष्टिगत रखते हुए इस प्रकार के शिविर का आयोजन किया जा रहा है क्योंकि सभी पद्धतियों में किसी न किसी रोग के निदान में बेहतर अनुभव / परिणाम मिलते हैं।

Loading...