संकट मोचन के दर्शन कर योगी ने की देश की समृद्धि की कामना

संकट मोचन के दर्शन कर योगी ने की देश की समृद्धि की कामना

वाराणसी, 11 फरवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को यहां प्राचीन श्री संकट मोचन मंदिर में दर्शन-पूजन कर देशवासियों के सुख, सफल एवं श्रेष्ठ जीवन की कामना की।

श्री योगी ने अपने दो दिवसीय दौरे के आखिरी दिन दर्शन-पूजन के बाद लखनऊ रवाना होने से पूर्व कहा, “मुझे पूर्ण विश्वास है कि बजरंग बली की कृपा से हम सब का कल्याण होगा।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 16 फरवरी के प्रस्तावित वाराणसी दौरे से संबंधित तैयारियों का जायजा लेने सोमवार आये श्री योगी ने रात में उदघाटन के लिए प्रस्तावित कुछ परियोजनाओं का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये।

उन्होंने नवनिर्मित चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर एवं कबीरचौरा स्थित मंडलीय महिला चिकित्सालय परिसर में नवनिर्मित 100 सैया के महिला मेटरनिटी विंग का निरीक्षण किया।

मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के बाद श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन के बाद श्री काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कॉरिडोर के निर्माण कार्य को समय सीमा के अंतर्गत पूरा कराए जाने पर जोर दिया।

निरीक्षण के दौरान श्री योगी ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह के खोजवा स्थित आवास पहुंचे। उन्होंने गत दिनों श्री सिंह की पत्नी एवं वाराणसी की पहली महिला महापौर सरोज सिंह के निधन पर उनके परिजनों मिलकर शोक संवेदना व्यक्त किया। उन्होंने स्वर्गीय सरोज सिंह के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की।

मुख्यमंत्री ने चौकाघाट लहरतारा फ्लाईओवर निरीक्षण के दौरान सड़क पर खड़े बच्चों को देख अचानक गाड़ी रुकवाकर उनके पास पहुंच गए। बच्चों से उनके पढ़ाई-लिखाई एवं उनके माता -पिता के बारे में जानकारी ली। बच्चों को प्यार करते हुए उन्हें अपने हाथों से टॉफी भी दी। मुख्यमंत्री के हाथों टॉफी पाकर बच्चे खिलखिला कर हंस पड़े।

उन्होंने सोमवार दिन में अपने दौरे की शुरुआत वारणसी-चंदौली सीमा पर स्थित पड़ाव क्षेत्र में गन्ना संस्थान की निर्मित पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्थल उपवन के निरीक्षण से की थी। करीब 10 एकड़ जमीन पर 39.75 करोड़ की लागत से निर्मात इस उपवन में पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन एवं सिद्धांतों को दर्शाने वाले वैदिक उद्यान, रिसर्च सेंटर एवं सांस्कृतिक आडिटोरियम बनाये गए हैं। पड़ाव चौराहे का सुंदरीकरण कराते हुए स्मृति स्थल पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट की विशालकाय प्रतिमा स्थापित की गई है। प्रधानमंत्री 16 फरवारी को इसका उद्धाटन करने आने वाले हैं।

निरीक्षण के दौरान उनके सहयोगी मंत्री नगर विकास एवं वाराणसी के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन, पर्यटन एवं धर्मार्थ कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी, स्टांप एवं पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल के अलावा अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी, एडीजी बृजभूषण, मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, आईजी विजय सिंह मीणा, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Loading...