जनपद के प्रत्येक विद्यालय में विद्यालयों को बेहतर बनाने के लिए विद्यालय प्रबन्ध समिति का गठन किया गया है।

जनपद के प्रत्येक विद्यालय में विद्यालयों को बेहतर बनाने के लिए विद्यालय प्रबन्ध समिति का गठन किया गया है।

रिपोर्ट ।   ब्यूरो प्रवीण मिश्रा 

श्रावस्ती ।  विद्यालय प्रबन्ध समिति सदस्यों को उनके कर्तव्य एवं अधिकार के विषय में जानकारी प्रदान करने के लिए आज ब्लाक संसाधन केन्द्र पर प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण जनपद स्तर के पश्चात ब्लाक स्तरीय मास्टर ट्रेनर तैयार किया जायेगा एवं उसके पश्चात ब्लाक स्तर पर प्रत्येक विद्यालय से एक अध्यापक तथा एक विद्यालय प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष को प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। विद्यालय स्तरीय मास्टर ट्रेनर के द्वारा विद्यालय स्तर पर 13 विद्यालय प्रबन्ध समिति के सदस्यों को प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। उक्त बातें जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा ने कहीं। प्रशिक्षण के सम्बन्ध में जिला समन्वयक, समग्र शिक्षा अभियान, अजीत कुमार उपाध्याय ने बताया कि विद्यालय स्तर पर विद्यालय प्रबन्ध समिति प्रशिक्षण में विद्यालय मे शिक्षकों, शिक्षा मित्रों एवं अनुदेशकों की उपस्थिति पर चर्चा, छात्र-छात्राओं की उपस्थिति की समीक्षा की जायेगी इसके अतिरिक्त यदि छात्र-छात्राओं की उपस्थिति 60प्रतिशत से कम है तो पृथक से अभिभावकों के साथ बैठक की जायेगी एवं उनसे विचार-विमर्श किया जायेगा, छात्र-छात्राओं को निःशुल्क पाठ्य-पुस्तकों, यूनीफार्म, जूता-मोजा, स्कूल बैग एवं स्वेटर समय से वितरण एवं नियमानुसार भुगतान की कार्यवाही की जायेगी, हाउस होल्ड सर्वे में चिन्हित आउट आॅफ स्कूल बच्चों के नामांकन एवं विशेष प्रशिक्षण की समीक्षा की जायेगी जिससे बालिकाओं तथा विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों की योजनाओं पर विशेष रूप से ध्यान दिया जा सके, मध्यान्ह भोजन योजना के अन्तर्गत मीनू के अनुसार नियमित रूप से भोजन दिया जा रहा है अथवा नहीं, विद्यालय में कमजोर छात्रांे लिए उपचारात्मक शिक्षण की व्यवस्था, विद्यालय प्रबन्ध समिति को वर्ष 2018-19 में कितनी धनराशि प्राप्त हुयी एवं उसके सापेक्ष कितनी व्यय की गयी है। वर्ष 2019-20 में विद्यालय प्रबन्ध समिति को प्राप्त धनराशि एवं उससे किये गये व्यय का विवरण। विद्यालय की दीवार पर लेखन है अथवा नहीं, विद्यालय मंे पुस्तकालय की सुविधा है अथवा नहीं एवं पुस्तकालय की पुस्तकें बच्चों को पढ़ने के निमित्त उपलब्ध करायी जा रही हैं अथवा नहीं, विद्यालय में खेल-कूद की सुविधा उपलब्ध है अथवा नहीं एवं खेलकूद की सामग्री का बच्चों द्वारा प्रयोग किया जा रहा है अथवा नहीं, पाठ्य-योजना के अनुसार शिक्षकों द्वारा कार्य किया जा रहा है अथवा नहीं, विद्यालय में ब्लैक बोर्ड, पेयजल एवं हैण्डवाॅश की व्यवस्था, बालक-बालिकाआंे हेतु पृथक-पृथक शौंचालय, रसोईघर, रंगाई-पुताई फर्श आदि की स्थिति, विद्यालय भवन के रख-रखाव एवं स्वच्छता व्यवस्था पर चर्चा, पंचायत द्वारा वित्त पोषण के अन्तर्गत किये गये कार्यों की समीक्षा आदि विषयों पर प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।ब्लाक संसाधन केन्द्र पर आयोजित प्रशिक्षण में मुनव्वर मिर्जा एवं कनकलता कनौजिया के द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्रशिक्षण में प्रत्येक ब्लाक से 04 अर्थात कुल 20 प्रतिभागी उपस्थित रहे।

Loading...