Mon. Jul 22nd, 2019
स्वार्थ सिद्धि के लिए किया गया है सपा-बसपा गठबंधन -दीपमाला

बृजेन्द्र सिंह गौड़
ललितपुर. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) की बुंदेलखंड लोकसभा प्रभारी व पूर्व सपा नेता दीपमाला कुशवाहा ने स्वार्थ सिद्धि के लिए सपा-बसपा गठबंधन किया गया है, जबकि यह नीतियों के साथ होना चाहिए था। बसपा सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधते हुए दीपमाला कुशवाहा ने कहा कि बहन जी टिकट वितरण में हमेशा बोली लगाती हैं, ऐसा कई बार उनके कार्यकर्ता कह चुके हैं। इस बार भी गठबंधन में भी ऐसा ही कुछ होने वाला है। गठबंधन के बाद जैसे ही सीटों का बंटवारा होगा, टिकट की बोली लगनी शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि पहले जिस सीट की बोली 5 करोड़ रुपए लगती थी, गठबंधन के बाद उसी सीट की कीमत 10 करोड़ रुपए हो जाएगी। क्योंकि मायावती हमेशा ही कहती है कि वह टिकट नहीं, बल्कि सांसद-विधायक बनने का प्रमाण पत्र दे रही हैं।

प्रसपा लोहिया की बुंदेलखंड प्रभारी दीपमाला कुशवाहा ने कहा कि भाजपा को हराने के लिए गठबंधन नहीं महागठबंधन होना चाहिए था। सपा-बसपा के आधे-अधूरे गठबंधन से साबित होता है कि कहीं न कहीं यह गठबंधन निजी स्वार्थ को लेकर किया गया है। उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी जैसी सांप्रदायिक ताकतों को खत्म करना है तो देश में जितनी भी सेकुलर पार्टियां है सभी को एक साथ आना पड़ेगा। इसके लिए हमारी पार्टी भी महागठबंधन का हिस्सा बनने को तैयार थी, क्योंकि हमारी पार्टी का मकसद भी बीजेपी जैसी सांप्रदायिक ताकतों को रोकना है, ताकि देश में अमन-चैन की बांसुरी बज सके।

कौन हैं दीपमाला कुशवाहा
दीपमाला कुशवाहा समाजवादी पार्टी में अहम भूमिका निभा चुकी है। बीते विधानसभा चुनाव में ललितपुर से वह विधायकी का चुनाव लड़ चुकी हैं। हाल ही में उन्होंने शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का दामन थाम लिया। शिवपाल यादव ने उन्हें लोकसभा चुनाव के लिए बुंदेलखंड का प्रभारी बनाया है।

…तो बड़ा आंदोलन करेगी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी
पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को पार्टी की नीतियों से अवगत कराते हुए उन्होंने आगामी चुनाव के लिए तैयार रहने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी आगामी 6 फरवरी को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर वर्तमान प्रदेश सरकार की नीतियों और उनसे उत्पन्न जन समस्याओं को लेकर धरना प्रदर्शन करेगी और जिलाधिकारी को ज्ञापन भी सौपा. इस ज्ञापन में हम किसानों की समस्याएं तथा उनका शोषण बेरोजगारी की समस्या युवाओं की समस्याएं महिला सुरक्षा पलायन जैसे अहम मुद्दों के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में फैली आम जन समस्याओं से शासन-प्रशासन को अवगत कराएं। यह ज्ञापन शासन-प्रशासन के लिए हमारा अल्टीमेटम होगा कि उक्त सभी समस्याओं पर कार्रवाई व उनका निराकरण जल्द से जल्द हो, अगर ऐसा नहीं होता तो हमारी पार्टी इसके लिए बड़ा आंदोलन करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: